दिवाली पर सरकार की तरफ से सर्राफा कारोबारियों और ग्राहकों के लिए राहत भरा निर्णय

0
306
Large collection of gold jewellery

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । सरकार ने पीएमएलए (सरकार ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट) के दायरे से ज्वैलरी सेक्टर को बाहर कर दिया है l पीएमएलए से बाहर होने पर सरकार सर्राफा कारोबारियों से किसी तरह की जानकारी नहीं मांगेगी l इसके जरिए 2 लाख रुपये तक की ज्वैलरी अगर आप कैश में खरीदेंगे तो पैन नहीं देना होगा l परन्तु 2 लाख रुपये से ज्यादा कीमत की सोने, जेम्स की खरीदारी पर पैन देना अनिवार्य बना रहेगा l सरकार का यह फैसला कारोबारियों और ग्राहकों दोनों के लिए राहत भरा है l

नोट: निरंतर ताज़ा ख़बरें निशुल्क प्राप्त करने के लिए समाजहित एक्सप्रेस के दिए गए लिंक पर जाकर पेज को LIKE करें https://www.facebook.com/raghuvansh.2015/

प्राप्त जानकारी के मुताबिक अब ग्राहकों को 2 लाख रुपए से ज्यादा के गहने खरीदने पर ही पैन कार्ड मुहैया कराना होगा l अब तक 50,000 रुपए तक के गहनों की खरीदारी पर पैन कार्ड मुहैया कराना होता था l यह सीमा बढ़ाकर अब 2 लाख कर दी गई है यही सीमा पहले भी थी, लेकिन सरकार ने अब इसके साथ सर्राफा बाजार के लिए केवाईसी मुहैया कराने की शर्त खत्म कर दी है l केवाईसी के तहत ग्राहकों को फॉर्म भरकर अपनी जानकारी देनी पड़ती थी l कारोबारियों की दलील रही है कि कई ग्राहक अपनी जानकारी नहीं देना चाहते थे, लिहाजा कारोबार करने में मुश्किलें आ रही थीं l दिवाली आने वाली है ऐसे में सरकार का यह फैसला कारोबारियों और ग्राहकों दोनों के लिए राहत भरा है l इससे सर्राफा कारोबार में तेजी आएगी, जो पिछले कुछ महीनों से सुस्त थी l

क्या सामाजिक संस्थाओ में पदाधिकारियों का चयन चुनाव प्रक्रिया के द्वारा होना चाहिए ?

View Results

Loading ... Loading ...

LEAVE A REPLY