सूरजगढ़ के होनहार ब्राउन बेल्टधारी ओजस्व गजराज ने अंतरराष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर रैगर समाज का नाम रोशन किया l

3
730

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । जयपुर के गोबिंदगढ़ में अंतरराष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप का आयोजन किया गया जिसमे जापान, भूटान, नेपाल, श्रीलंका, पौलेंड, हॉलैंड सहित नौ देशों की टीमों ने भाग लिया। इस अंतरराष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप के दौरान अनुशासन के साथ रोचक मुकाबले देखने को मिले l प्रतियोगिता में सूरजगढ़ के होनहार ब्राउन बेल्टधारी ओजस्व गजराज ने रजत पदक जीता।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक सूरजगढ़ के होनहार ब्राउन बेल्टधारी ओजस्व गजराज ने राजस्थान स्पोटर्स एकेडमी जयपुर की ओर से भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए अंतरराष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर अपने शहर व प्रदेश का नाम रोशन किया l

इस अवसर पर अखिल भारतीय रैगर महासभा राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य मनोहर लाल बोकोलिया ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप में जापान, भूटान, नेपाल, श्रीलंका, पौलेंड, हॉलैंड, बंगलादेश, स्वीडन, यूएसए सहित नौ देशों की टीमों ने हिस्सा लिया l चैंपियनशिप में वर्ल्ड कराटे फेडरेशन के नियमो के अंतर्गत सभी मुकाबले हुए l इन मुकाबलों में खिलाडियों के दांव व पंच को देखकर दर्शक हतप्रभ थे। रैगर समाज के होनहार ब्राउन बेल्टधारी ओजस्व गजराज ने चैंपियनशिप में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए जीत हासिल कर रजत पदक जीतकर समाज का नाम रोशन किया है l

उन्होंने बताया कि ओजस्व गजराज के पिता डॉ. जगदीश प्रसाद आरएएस है। मां सुमन मौर्य राजस्थान विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफेसर है। आगे कहा कि कराटे से बच्चों की नैसर्गिक प्रतिभा उभरकर सामने आती है। इससे खेल के विकास के साथ ही आत्मरक्षा भी की जा सकती है।

क्या सामाजिक संस्थाओ में पदाधिकारियों का चयन चुनाव प्रक्रिया के द्वारा होना चाहिए ?

View Results

Loading ... Loading ...

 

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY