स्वास्थ्य केंद्र पर ताला लगा होने के कारण प्रसव पीड़ा से पीड़ित महिला ने खुले में दिया बच्चे को जन्म

0
798

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । मध्य प्रदेश के अशोकनगर जिला स्थित स्वास्थ्य केंद्र में प्रसव पीड़ा से पीड़ित एक महिला पहुंची लेकिन, केंद्र पर ताला लगा होने के कारण काफी देर इंतजार करने के बाद प्रसव पीड़ा से पीड़ित महिला ने खुले मैदान में ही बच्चे को जन्म दे दिया। साधनों की कमी और महिला का स्वास्थ बिगड़ने की वजह से बच्चा आधे घंटे तक धूल में ही पड़ा रहा।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक कदवाया निवासी आदिवासी महिला विद्या बाई (28) शुक्रवार दोपहर प्रसव पीड़ा होने पर अपनी ननद पान बाई के साथ स्वास्थ्य केंद्र पहुंची थी। लेकिन, केंद्र पर ताला लगा हुआ था। महिला आधा घंटे तक ताला खुलने का इंतजार करती रही, लेकिन कोई वहां नहीं पहुंचा।

अचानक महिला को तेज दर्द होने लगा, उसने अपने साथ आई महिला रिश्तेदार की मदद से स्वास्थ्य केंद्र के पीछे खुले मैदान में ही बच्चे को जन्म दे दिया। महिला की हालत काफी खराब हो रही थी। इस दौरान लगभग आधे घंटे तक बच्चा धूम-मिट्टी और ठंड में जमीन पर ही पड़ा रहा। महिला की रिश्तेदार ने बताया कि प्रसव के करीब एक घंटे बाद एएनएम सीमा माहौर वहां पहुंची। उन्होंने स्वास्थ्य केंद्र का दरवाजा खोला और मां एवं बच्चे को अंदर ले गई। स्थानीय निवासियों ने खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ.बीएस जम्होरिया को फोन लगाकर मामले की जानकारी दी, तो उन्होंने प्रसूता को 108 एंबुलेंस के माध्यम से ईसागढ़ भेज देने को कहा।

मीडिया की ओर से मामले की जानकारी मिलने के बाद कलेक्टर बीएस जामोद ने कहा कि पूरे मामले की जांच कर लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अखिल भारतीय रैगर महासभा का अगला अध्यक्ष कैसा होना चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...

LEAVE A REPLY