भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी व राजेश लवाडिया (चेयरमैन) ने समझा गरीबों का दर्द, ठंड में जरूरतमंदो को बांटे कंबल

0
394

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । देश के ज्यादातर हिस्सों में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। साधन संपन्न लोगों के लिए भले ही यह मजेदार मौसम हो, लेकिन लाखों साधन विहीन लोगों के लिए यह ठंड जानलेवा बनी हुई है। जो ठंड में खुले आसमान के नीचे रात गुजारने के लिए मजबूर हैं। बहुत से लोग ऐसे भी हैं, जिनके पास ठंड से बचने के लिए कोई गर्म कपड़ा तक नहीं है।

अपनी नियमित आय से जहां वे बड़ी ही मुश्किल से अपने परिवार के लिए दो समय के भोजन की व्यवस्था कर पाते हैं, वहां उनके लिए इन अतिरिक्त खर्चों का बोझ उठाना काफी कठिन हो जाता है। ठंड के शुरू होते ही गरीबों एवं असहाय लोगों को यही चिंता रहती है कि वे किस तरह आर्थिक तंगी के चलते अपने परिवार के लिए कंबल आदि की व्यवस्था कर सकेंगे।

दिल्ली की इन सर्द रातों में बढती हुई ठण्ड को ध्यान में रखते हुए ऐसे ही लोगों की मदद करने के लिए भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश के झुझारू अध्यक्ष मनोज तिवारी, राजेश लवाडिया (चेयरमैन) करोलबाग जोन,  भारतभूषण मदान (अध्यक्ष) भारतीय जनता पार्टी करोल ज़िला बाग ने कल देर रात्रि 108फुट हनुमान मंदिर पंचकुइया रोड, करोलबाग नई दिल्ली, पर जाकर जो गरीब बेघर सड़को पर इतनी सर्दी में रह रहे है उनके स्वास्थ्य और ठण्ड से सुरक्षा के लिये भगवान से विशेष पूजा अर्चना की l

प्रवीण कुरडिया अध्यक्ष,पहाडग़ंज मंडल, भारतीय जनता पार्टी ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश के झुझारू अध्यक्ष मनोज तिवारी, राजेश लवाडिया (चेयरमैन) करोलबाग जोन,  भारतभूषण मदान (अध्यक्ष) भारतीय जनता पार्टी करोल ज़िला बाग के अनेको कार्यकर्ताओं के साथ पूसा रोड पर इन सर्द रातों को सड़क किनारे खुले में सोने वाले सैकड़ों लोगों को कम्बल ओढाकर अपनी मानवीय संवेदना प्रकट की।  इस पवित्र कार्य मे भारतीय जनता पार्टी पहाडग़ंज मंडल के कार्यकर्ता साथियो ने भी अपना योगदान दिया l

जरूरतमंदों को उनकी आवश्यकता के अनुसार कोई वस्तु देते हैं तो उन्हें खुशी होती ही है। देने वाले को भी आत्मसंतोष मिलता है व आत्म बल पैदा होता है तथा समाज के सभी लोगों को जरूरतमंदों की सेवा करनी चाहिए। दान से बढ़कर कोई श्रेष्ठ कार्य नहीं है।

अखिल भारतीय रैगर महासभा का अगला अध्यक्ष कैसा होना चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...

LEAVE A REPLY