सामाजिक एकता व समरसता का प्रतीक रैगर समाज उत्थान सेवा समिति, बगरू का चतुर्थ सामुहिक विशाल विवाह सम्मेलन

0
1009

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । रैगर समाज उत्थान सेवा समिति, बगरू जयपुर राजस्थान के तत्वावधान में 103 जोड़ो का चतुर्थ सामुहिक विशाल विवाह सम्मेलन शनिवार 28 अप्रैल 2018 को राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय, जुगल दरबार मेला स्थल , बगरू में आयोजित किया गया l जिसमें मुख्य अतिथि नरेन्द्र कुमार मोलपुरिया चुनाव आयुक्त केन्द्र शासित प्रदेश, निवाई विधायक  हीरालाल रैगर,विधायक राम चन्द्र सुनारीवाल, विशिष्ट अतिथि श्रीमति वंदना नोगिया,(जिला प्रमुख अजमेर),श्रीमति गंगा देवी (पूर्व विधायक) योगेन्द्र चांदोलिया (पूर्व मेयर दिल्ली), राजकुमार फुलवाडिया(प्रोफेसर DU), राजस्थान के पूर्व ADG पुलिस पी. एन. रछौया, सी एम चांदोलिया, GST कमिश्नर दिल्ली, अजमेर के पूर्व महापौर कमल बाकोलिया, पूर्व विधायक बाबुलाल,मुम्बई महानगरपालिका के नगर सेवक राजेश फुलवारिया,बगरू नगर पालिका चेयरमेन श्रीमती संतोष विजय चौहान,पार्षद महेश रैगर के साथ समाज के अन्य गणमान्य महानुभाव शामिल हुए l

लोकेश सोनवाल(अति० पुलिस उपायुक्त, जयपुर पुलिस) ने मंच संचालन करने के साथ साथ भोजन, विवाह संबंधी और अन्य व्यवस्थाओं की सामाजिक सेवा में अपना योगदान दिया ।

कार्यक्रम हालाँकि रैगर जाति का था, लेकिन सर्व समाज और सर्व धर्म के लोगों ने रैगर समाज उत्थान सेवा समिति, बगरू को आर्थिक सहयोग किया l रैगर समाज ने भी सदाशयता का परिचय देते हुए सम्मेलन में आने वाले सर्व समाज और सर्व धर्म के लोगों को मंच पर आमंत्रित करके उनको माला ,साफा पहना कर और स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया । स्थानीय पार्षद एडवोकेट कान्ता सोनवाल की ओर से आए हुए सभी वर वधु , अतिथिगण और भामाशाहों को स्मृति चिह्न के रूप में बाबा साहब की लेमिनेटेड फ़ोटो देकर सम्मानित किया ।

समारोह में मुख्य अतिथि नरेन्द्र मोलपरिया ने संबोधित करते हुए कहा कि हमारे आने वाली पीढ़ी किस प्रकार बौद्धिक रूप से प्रखर बने, इसके लिये जरुरी है की गर्भावस्था में ही मॉं को पौष्टिक आहार मिले तभी हमारी आने वाली पीढ़ी तीक्ष्ण बुद्धि वाली होगी ।

समाजहित एक्सप्रेस पर प्रसारित होने वाले हिंदी समाचार के निशुल्क अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें l

जयपुर के पास बगरू में आयोजित रैगर समाज उत्थान सेवा समिति, बगरू जयपुर राजस्थान के तत्वावधान में 103 जोड़ो का चतुर्थ सामुहिक विशाल विवाह सम्मेलन का नजारा ऐसा था कि विशाल पंडाल में बुद्ध, फुले, अंबेडकर, सावित्रीबाई, कबीर,रविदास के बड़े चित्र लगे हुए थे ,धम्म चक्र के ध्वज गौरव के साथ लहरा रहे थे तथा उपस्थित महिला पुरुषों के हाथों में अंबेडकर के चित्र दिख रहे थे । यदि बाबासाहेब जीवित होते और वैचारिक व सांस्कृतिक बदलाव का दृश्य देख,  अपना सपना साकार होते हुए देखते तो बहुत प्रसन्न होते।

समाजहित एक्सप्रेस पर प्रसारित होने वाले हिंदी समाचार के निशुल्क अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें l

इस अनूठे शानदार समारोह में हजारों महिला पुरुषों के हाथों में अंबेडकर के चित्र देख कर ऐसा प्रतीत हो रहा था मानो रैगर समाज बाबासाहेब के कारवां को आगे बढाने की प्रतिज्ञा ले रहा है। मंच से भी सभी प्रबुद्ध सामाजिक वक्तागण जय भीम के उदघोष के साथ दो अप्रैल के ऐतिहासिक आंदोलन का जिक्र करते हुए दलितों में एकता पर जोर दे रहे थे। युवा पीढी पूरी तरह से बुद्ध व बाबासाहब के रंग में सरोबार थी।जय भीम, जय भारत का हर ओर उदघोष था। इस सामुहिक विवाह समारोह को वैचारिक व सांस्कृतिक बदलाव का आंदोलन कहें तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

बगरु विहा सम्मेलन रैगर समाज के 103 जोडे 28 अप्रैल 2018 शनिवार सभी भाई लोगो को धन्यवाद जय भीम जय भीम

Posted by Shambhu Pingoliya on Saturday, April 28, 2018

103 जोडो़ं का विशाल विवाह सम्मेलन समारोह की व्यवस्था काबिले तारीफ थी। विशेषता यह रही कि इसमें सेवा भाव युवा-युवतियों के साथ-साथ सभी उम्र के लोगों का अनुशासित होना था। समाज को उद्बोधन में सभी नेताओं व अधिकारियों का अपनी पार्टी विशेष से ऊपर उठ कर सामाजिक विकास का मुद्दा रहा जो सामाजिक एकता ओर समरसता को बल देता है। अंत में समिति अध्यक्ष देव बक्स कुर्डिया पूर्व जज, उपाध्यक्ष श्रीमती कान्ता सोनवाल व महामंत्री प्रभाती लाल मुण्डोतिया ने वर-वधु को उपहार व विवाह प्रमाण पत्र प्रदान किए।

रैगर समाज उत्थान सेवा समिति, बगरू जयपुर के तत्वावधान में अब तक 452 जोड़ो का विवाह कराया जा चुका है। जिसका क्रमवार विवरण इस प्रकार है प्रथम सामूहिक विवाह सम्मेलन में 131 जोड़ो का, द्वितीय सामूहिक विवाह सम्मेलन में 111 जोड़ो का, तृतीय सामूहिक विवाह सम्मेलन में 107 जोड़ो का तथा चतुर्थ सामुहिक विशाल विवाह सम्मेलन में 103 जोड़ो का l

सामूहिक विवाह की झलकियाँ

 

LEAVE A REPLY