रैगर समाज नवनिर्माण महासमिति का नववर्ष स्नेह मिलन समारोह का आयोजन

0
232
दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । जयपुर, दिनांक 06 जनवरी,2019 को रैगर समाज नवनिर्माण महासमिति की राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती अंजुरानी कराडिया की अध्यक्षता में महासमिति की कार्यालय 146 श्री गोपाल नगर, गोपालपुरा बाईपास जयपुर में नववर्ष स्नेह मिलन समारोह का आयोजन किया गया।  समारोह में रैगर समाज की विभिन जिलों से अनेक प्रभुद्ध नागरिकगण का परिचय किया गया और आगमी लोकसभा चुनावो की स्थिति को ध्यान में रखते हुये, रैगर समाज के लोग चाहे वह कहीं भी आवास कर रहे हों अपने को एकता के सूत्र में पिरोकर अपने ग्राम/कस्बों/नगर में संगठित होकर इकाई का गठन करने हेतु प्रेरित किया गया । रैगर समाज नवनिर्माण महासमिती में जयादा से ज्यादा लोगो को जोड़ने, ज्यादा संख्या में सदस्य बनाने एवं सभी पदादिकारियो को जल्द से जल्द कार्यकारणी बनाने के भी निर्देश मिले।
स्नेह मिलन समारोह  में समिति के राष्ट्रीय उपाध्य्क्ष श्री फूलचंद बिलोनिया, युवा प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष श्री सुरेश आलोरिया, समिति के प्रदेश के पदादिकारी रामावतार शेरसिया , प्रदेश सचिव राकेश जाजोरिया , मुरारी लाल मौर्य , जयपुर शहर युवा प्रकोष्ट अध्यक्ष दिनेश जाटोलिया, महासचिव मुकेश कुमार कनखेडीया एवं रैगर समाज के विभिन जिलों से पधारे प्रभुद्ध नागरिकगण उपस्थित थे 
   
———————-कुरतियो को दूर करने के हर प्रयास करने पर भी दिया जोर———————–
 
रैगर समाज में एक दूसरे के प्रति स्नेह, श्रद्धा, सद्भाव, सहयोग तथा आत्मीयता के गुण उत्पन्न करना तथा उनमें वृद्धि करना ।
रैगर समाज पर लगातार हो रहे अत्याचारों को भी रोकने हेतु हर संभव प्रयास करे 
सामाजिक संघटन में युवा वर्ग की अधिक से अधिक भागीदारी होना । 
अपने समाज के पूर्वजों द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में किये गए उत्कृष्ट तथा उल्लेखनीय कृत्यों का संकलन तथा उसका प्रचार प्रसार करना ।
 अपने समाज के किसी भी पुरूष/महिला जिनके द्वारा किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्ट एवं जनहित सराहनीय कार्य किया गया हो अथवा किया जा रहा हो उन्हें सम्मानित करना ताकि वे समाज के पे्रणा श्रोत बन सके  । 
 
सुख-दुख में नैतिक, आर्थिक, सामाजिक तथा भावात्मक रूप से एक दूसरे को सहयोग प्रदान करना 
सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, क्रीड़ा-कार्यक्रमों, नगर एवं क्षेत्र के विकास के तथा राष्ट्रीय कार्यक्रमों में एक जुट होकर भाग लेना तथा नेतृत्व करना । 
सामाजिक कुरीतियों जैसे दहेज प्रथा शादी आदि में धन के अपव्यय, दिखावे आदि के कार्यक्रमों में सुधार लाना ।
सामाजिक कुरीतियों, दहेज प्रथा, दिखावे के कार्यक्रमों शादी आदि में धन के अपव्यय में सुधार लाना समाज के युवक-युवतियों को उनके उज्जवल भविष्य हेतु मार्ग दर्शन तथा निर्बल छात्र/छात्राओं को यथासंभव आर्थिक सहयोग प्रदान करना । 
 शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्ति को उसके द्वारा माॅग करने पर यथा संभव आर्थिक सहायता प्रदान करना ।
समाज के निर्बल छात्र/छात्राओं को यथासंभव आर्थिक सहयोग देना, उत्कृष्ट एवं मेधावी छात्र/छात्राओं, युवक/युवतियों को यथासंभव योग्यता छात्रवृत्ति प्रदान करना तथा उनके उज्जवल भविष्य के लिए मार्गदर्शन करना । 
राज्य, राष्ट्रीय तथा अन्तराष्ट्रीय स्तर पर चयनित शिक्षार्थियों एवं खिलाड़ियों को यथासंभव आर्थिक सहयोग प्रदान करना तथा उनको सम्मानित एवं पुरस्कृत किया जाना ।
शाररिक रूप से अक्षम व्यक्ति को चिकित्सा सुविधा हेतु आर्थिक सहयोग की माॅग करने पर यथासंभव सहयोग प्रदान करना । 
अपने समाज के पूर्वजों तथा वर्तमान समय में अपने समाज के किसी भी महिला/पुरूष द्वारा किसी भी क्षेत्र में किए उत्कृष्ट तथा उल्लेखनीय कृत्यों का संकलन कर उसका प्रचार एवं प्रसार करना ।
अपने समाज की पूर्व से बनी हुई छवि/प्रतिष्ठा को बनायें रखना तथा उसमें वृद्धि करना । 
भाषा तथा अपनी संस्कृति का समर्थन करना ।परिवार के बच्चों में सूसंस्कारों का बीजारोपण करना
 समाज के उत्कृष्ट एवं मेधावी युवक-युवतियों/छात्र-छात्राओं को यथासंभव योग्यता छात्रवृत्ति देना। राज्य, राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय स्तर पर चयनित शिक्षार्थियों को खिलाड़ियों को यथासंभव आर्थिक सहयोग पेदान करना तथा उन्हें सम्मानित एवं पुरूस्कृत करना 

LEAVE A REPLY