अनिता सपेरा ने जूडो प्रतियोगिता में 27 किलो भार वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त किया

0
142

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । इतिहास गवाह है कि बेहद गरीब परिवार के बच्चे संघर्षों की भट्ठी में तपकर निकले खिलाडियों ने ही देश के लिए पदक जीतकर विदेशी सरजमीं पर भारत का मान ऊँचा करा है l ऐसा ही कमाल राजस्थान के भगवानपुरा कस्बे के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की 12 वर्षीय छात्रा अनिता सपेरा ने अजमेर में संभागीय स्तरीय जूडो प्रतियोगिता में भाग लेकर 27 किलो भार वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त किया ।

समाजहित एक्सप्रेस पर प्रसारित होने वाले हिंदी समाचार के निशुल्क अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें l

प्राप्त जानकारी के मुताबिक भगवानपुरा कस्बे के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की आठवीं कक्षा की 12 वर्षीय छात्रा अनिता के पिता सरदार नाथ सपेरा मजदूरी करते हैं। मां समुंदर देवी भेड़-बकरियां चराती है। परिवार में खेल का माहौल नहीं था, फिर भी अनिता का जज्बा उसे इस मुकाम तक ले गया । उसने स्कूल में ही जूडो सीखा । शारीरिक शिक्षिका सूरज वर्मा ने अनीता को प्रशिक्षण दिया l शिक्षिका आशा शर्मा व शबनम खान ने भी अनीता को जुडो खेलने की प्रेरणा दी l अनिता सत्र 2017-18 में पहली बार में राज्य स्तरीय टीम में चयनित होकर चैंपियन बनी थी ।

प्रधानाचार्य रीना भार्गव, अभिलाषा सुखवाल, आशा शर्मा, उदी शर्मा ने छात्रा अनिता सपेरा को सत्र 2017-18 में पहली बार में राज्य स्तरीय टीम में चयनित होकर चैंपियन बनने पर सम्मान किया । 26 जनवरी-2018 को मांडल में उपखंड स्तरीय समारोह में भी अनिता को सम्मानित किया गया । अब अनिता को राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता के लिए अभ्यास कराया जा रहा है ।

अखिल भारतीय रैगर महासभा के चुनाव-2019 में निम्न में से किसे राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनना चाहते है ?

View Results

Loading ... Loading ...

LEAVE A REPLY