शाहपुरा में बड़ी धूमधाम से मनाई गई अंबेडकर जयंती, वक्ताओं ने दिया शिक्षा पर जोर

0
133
दिल्लीसमाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगाँवलिया) । डॉ अम्बेडकर जयंती समारोह समिति की ओर से शाहपुरा उपखंड कार्यालय से गाजेबाजे से शोभायात्रा निकाल कर मुख्य मार्गो से होते हुए शाहपुरा निजी गार्डन में पहुंची ।रास्ते में कई संगठनों द्वारा स्वागत सत्कार कर शीतल पेयजल की व्यवस्था की गई ।जय भीम के जयकारे व बैंड की मधुर ध्वनि पर नाचते गाते भीम सैनिक मुख्य कार्यक्रम स्थल तक पहुंचे। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पी.डी.परसोया, डॉ. विकास यादव,डॉ.अनिल मीणा जेएनयू दिल्ली,गेन्दा लाल रेगर सीबीईओ शाहपुरा,आरपी मीणा पूर्व डीजीपी,विशिष्ट अतिथि विश्वनाथ टेलर नूतन विद्यामंदिर निदेशक,राम सिंह मीणा सीबीईओ विराटनगर, चंद्रभान पलसानिया राष्ट्रपति पदक से सम्मानित शिक्षक ,हनुल चौधरी आई ए एस चयनित,महेश मोर्य पलक हॉस्पिटल निदेशक,डॉ. राजेश डोचानिया, कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री प्रभु दयाल जेवरीया ने की।
वरिष्ठअध्यापिका दिपिका चोपडा नी संबोधित करते हुए कहा कि झूठे अंबेडकर वादियों से सावधान रहने की जरूरत है यह समाज के लिए  नासूर की तरह है इन्हें  पहचान कर  अपने आपको उन से बचाना चाहिए तथा महिलाओं को अधिक अवसर दिया जाना चाहिए। विश्वनाथ टेलर ने कहा कि शिक्षा से ही समाज का पूर्ण विकास संभव है तथा महिला संख्या बल पर अधिक जोर दिया ।जेएनयू दिल्ली से पधारे प्रोफेसर डॉ अनिल मीणा ने रोस्टर प्रणाली के संबंध में विचार प्रकट किए तथा संविधान विरोधी ताकतों से संभल कर देश हित में कार्य करना चाहिए। सीबीईओ राम सिंह मीणा ने अम्बेडकर ने सभी के हितों की रक्षा की है तथा सविधान की देन है कि सभी को समानता का अवसर प्रदान किया गया है। सी बी ई ओ  गेन्दा लाल रैगर ने कहा कि शिक्षित बनो, संगठित रहो ,संघर्ष करो का वाक्य का सार्थक आधार ही जीवन है समाज में जागृति की आवश्यकता है ।
कार्यक्रम में मुख्य वक्ता पी.डी.परसोया,डिप्टी मैनेजर आरएफसी ने कहा कि शीलवान बनो,पंचशील धारण करो,दुनिया के 5 लोगों में से एक प्रमुख विद्वान थे डॉ. अम्बेडकर आप अपना भला स्वयं कर सकते हैं अम्बेडकर के रास्ते पर चलने का आह्वान किया ।पूर्व डीजीपी आर.पी. मीणा ने अंबेडकर जयंती को प्रत्येक तहसील स्तर पर आयोजन करने पर जोर दिया और जातिवाद छोड़कर एकता पर जोर दिया। चंद्रभान पलसानिया राष्ट्रपति पदक से सम्मानित ने कहा कि प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती अम्बेडकर के पुनर्जागरण पर जोर देते हुए संगठित होने का आह्वान किया ।
डॉ.विकास यादव ने अम्बेडकर के जीवन से प्रेरणा लेने का संकल्प दिलाया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आई ए एस चयनित हनुल चौधरी ने कहा कि अब तक का शैक्षिक में माता-पिता व अंबेडकर के सविधान को जीवन पर्यंत प्ररेणादायी है ।कार्यक्रम के अंत में सीताराम बुनकर ने धन्यवाद ज्ञापन किया तथा पूरणमल बुनकर ने सभी को सामूहिक मतदान की शपथ दिलाई शतप्रतिशत मतदान करने का आह्वान किया। इस अवसर पर राजेश मंडोवरा, अमरचंद चौहान,रामवतार वर्मा, जगदीश नीझर,रामेश्वर वर्मा,मदन लाल मीणा,भोलाराम धानका, राजेश,खेमराज नैनावत, रमेश वाल्मिकी ,मोहित नंगलिया, एडवोकेट कैलाश बुनकर, मोतीलाल वर्मा ,अक्की वर्मा, सत्यनारायण गोठवाल आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY